कुमावत कौन से कास्ट में आते हैं?

कुमावत एक भारतीय हिन्दू जाति है, जिसका परम्परागत कार्य भवन (स्थापत्य) निर्माण हैं। दुर्ग, क़िले, मंदिर इत्यादि के निर्माण व मुख्य चित्रकारी का काम कुमावत समाज के लोगों द्वारा ही जाता था। कुछ लोग अज्ञानतावश कुमावत और कुम्हार (प्रजापत) को एक ही समझ लेते है, लेकिन दोनों अलग - अलग जातियां है।

कुमावत समाज की कुलदेवी कौन सी है?

मावत ( Kumawat ) शब्‍द होने से इसी पर विस्‍तार पर बताने जा रहा हूँ की कुम्‍हार समुदाय में कुमावत शब्‍द की शुरूआत कैसे हुई। इसी प्रकार कुमावत का भी अर्थ होता है कुम्‍हार के वत्‍स या अनुयायी। कुछ लोग अपने मन से कु मा वत जैसे मन माने सन्धि विच्‍छेद करते है और मनमाने अर्थ देते है।

प्रजापति कौन होते हैं?

कुम्हार के काम के प्रति निष्ठा देख ब्रह्मा जी ने उसे प्रजापति नाम से पुरस्कृत किया। परंतु कुछ लोगो का मत है कि कुम्हारों के पारंपरिक मिट्टी से बर्तन बनाने की रचनात्मक कला को सम्मान देने हेतु उन्हे प्रजापति कहा गया।